कलेक्ट्रेट

जिला प्रशासन का मुख्य कार्य राजस्व प्रशासन, कानून व्यवस्था की समीक्षा, विकास कार्यों की समीक्षा एवं अन्य सरकारी कार्यालयों का नियंत्रण करना है । जिलाधिकारी जिले का मुखिया होता है । जनपद में प्रशासनिक कार्यों को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए जिलाधिकारी की मदद हेतु कई वरिष्ठ अधिकारी होते हैं । जिनमें कानून व्यवस्था हेतु  पुलिस अधीक्षक, विकास कार्यों हेतु मुख्य कार्यपालन  अधिकारी, राजस्व प्रशासन हेतु अपर जिलाधिकारी, उपजिलाधिकारी तथा वन विभाग में प्रभागीय वनाधिकारी इत्यादि होते हैं ।

जिलाधिकारी के अन्य प्रमुख कार्यों में शस्त्र लाइसेंस जारी एवं रद्द करना, विभिन्न भूमि के अभिलेखों का लेखा जोखा रखना, स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन कार्य, भूमि सम्बंधी अदालती कार्यों का निबटारा करना इत्यादि हैं । जिले के प्रमुख होने के कारण आम आदमी अपनी शिकायतें सर्वप्रथम जिलाधिकारी के पास ही रखता है, जोकि आम तौर पर जिले के ही कार्यालयों से सम्बंधित होती है । जिलाधिकारी कार्यालय में एक अनुभाग इन शिकायतों के अनुश्रवण एवं निस्तारण का कार्य करता है ।