जिले के बारे में

सिंगरौली मध्य प्रदेश राज्य का 50 वाँ जिला है, जिसे 24 मई 2008 को सीधी जिले से विभाजित कर के बनाया गया, जिसमें मध्य प्रदेश के सीधी जिले के पूर्वी भाग और उत्तर प्रदेश के सोनीभद्र जिले के आसपास के क्षेत्र शामिल हैं। ऐतिहासिक रूप से सिंगरौली रीवा की एक रियासत थी, जो बघेलखंड क्षेत्र का हिस्सा था।

यह प्राकृतिक और खनिज संसाधनों से संपन्न एक क्षेत्र है | प्राचीन काल में यह क्षेत्र घने जंगलों और दुर्गम इलाकों से ढंका हुआ था | खनिज संसाधनों और तापीय विद्युत संयंत्रों के प्रचुरता के कारण इसे उर्जांचल नाम दिया गया है |

जिला मुख्यालय बैढन से 32 किलोमीटर की दूरी पर माडा में, 7 से 8 वीं शताब्दी की अवधि में कलात्मक रूप से नक्काशीदार रॉक कट गुफाएं देखी जा सकती हैं। प्रसिद्ध गुफाओं में गणेश माडा , विवाह माडा, शंकर माडा, जलजलिया और रावण माडा शामिल हैं। ये गुफाएँ रॉक कट वास्तुकला के सुंदर उदाहरण हैं।